Show

परिचय

केनरा बैंक के विशेषीकृत कक्ष के रूप में वर्ष 1988 में कृषि परामर्श सेवा (एसीएस) को संस्थापित किया गया जिसमें कि कृषि-आधारित परियोजनाओं को मूल्यांकित करने व परामर्श उपलब्ध कराने हेतु व्यावसायिक रूप से योग्य कार्मिक शामिल है ।

भारत के संपूर्ण बैंकिंग क्षेत्र में कृषि व सहबद्ध गतिविधियों हेतु यह सबसे पहला परामर्श कक्ष है ।

न्वोनमेषी नए उत्पादों / विचारों / योजनाओं के माध्यम से और अधिक सक्रिय होने, प्रत्येक अवसर की पहचान व उसका अंवेषण करने एवं भारत में अगली पीढ़ी पीएसबी हेतु प्रेरणास्रोत बनने के परिदृश्य से जनवरी 2014 से कृषि परामर्श सेवा को “कृषि न्वोनमेषी केन्द्र” के रूप में पुन:नामित किया गया है ।

आरंभ से ही प्रभाग ने फूलों की खेती, मशरूम, डेयरी, पोल्ट्री, प्लांटेशन प्रोजेक्ट्स, खाद्य प्रसंस्करण, जैव प्रौद्योगिकी, कोल्ड स्टोरेज, मत्स्य पालन, आदि जैसे क्षेत्रों में `7000 करोड़ से अधिक के परिव्यय वाले 1500 से अधिक परियोजनाओं को संभाला है जिसमें कि सार्वजनिक निर्गम मूल्यांकन भी शामिल है । बैंक के इस न्वोनमेषी अंग का मूल्यांकन रिपोर्ट सभी प्रमुख बैंकों व वित्तीय संस्थानों द्वारा स्वीकार्य है ।

आज, कृषि न्वोनमेषी केन्द्र (एआईसी) देश का एक प्रीमियर परामर्श संगठन है एवं कृषि व संबद्ध परियोजनाओं में निवेश हेतु रुचिबद्ध सभी कृषि उद्यमियों के लिये यह एक “वन स्टॉप शॉप” (एक ही दुकान में सभी वस्तुएं उपलब्ध) है तथा इसनें बाजार में अपने लिये एक अलग पहचान बना ली है ।